Friday, December 3EPS 95, EPFO, JOB NEWS

माता पिता के न होने पर बच्चों को मिलती है पेंशन, जानिए कैसे हासिल होगी रकम?

EPFO Pension: अगर माता-पिता में कोई एक या फिर दोनों ही नौकरीपेशा (Salaried Parents) थे और एम्‍प्‍लॉई पेंशन स्‍कीम में सदस्य (EPS Member) रहे हैं तो उनके बच्‍चों को आर्थिक मदद (Financial Support) दिए जाने का इंतजाम किया जाएगा. EPFO Pension Scheme यानी EPS में पैसे जमा करने के लिए कंपनी अपने कर्मचारी की सैलरी से पैसे नहीं काटती बल्कि कंपनी के योगदान का कुछ हिस्सा ही ईपीएस में जमा होता रहता है. कोरोना वायरस महामारी में कई जगहों पर देखा गया कि परिवार के सभी कमाने वाले सदस्‍यों की मौत हो गई और बच्‍चे अनाथ हो गए हैं. एम्‍प्‍लॉई प्रॉविडेंड फंड ऑर्गेनाइजेशन (EPFO) की तरफ से ईपीएस स्कीम के तहत अनाथ बच्चों को मिलने वाले फायदों (EPS Benefits) के बारे में बताया है.

ये होंगे ईपीएस के तहत बच्चों के लिए लाभ

  • अनाथ बच्चों को मिलने वाली पेंशन की राशि मासिक विधवा पेंशन की 75 फीसदी होगी.
  • मिलने वाली  राशि कम से कम 750 रुपये प्रति महीना होगी.
  • एक समय पर दो अनाथ बच्चों में से प्रत्येक को 750 रुपये प्रति महीना की पेंशन राशि दी जाएगी.
  • EPS के तहत अनाथ बच्चों को 25 साल की उम्र तक मिलेगी ये पेंशन.
  • किसी अक्षमता से पीड़ित बच्चे को जीवनभर दी जाएगी पेंशन.

कहां से आया पैसा

  • ईपीएस के लिए कंपनी अपने कर्मचारी के वेतन से कोई पैसे नहीं काटती हैं.
  • कंपनी के योगदान का कुछ हिस्सा ही ईपीएस में जमा किया जाता है.
  • नए नियमों के तहत 15,000 रुपये तक बेसिक सैलरी वालों को ये सुविधा मिलेगी.
  • सैलरी का कुल 8.33 फीसदी हिस्सा ईपीएस में जमा किया जाता है.
  • 15,000 रुपये बेसिक सैलरी होने पर कंपनी ईपीएस में 1,250 रुपये जमा कराती है.

ये भी पढ़ें

Ration Card: घर बैठे राशन कार्ड बनवाना है तो ऐसे जानें प्रक्रिया, आसान है तरीका

केंद्र सरकार दिसंबर में देगी बंपर कमाई का मौका, इस दिन ओपन होगा Bharat Bond ETF, फटाफट चेक कर लें डिटेल्स

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *