EPS 95 Higher Pension Order, केरला उच्च न्यायालय के फैसलों को सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा और साफ किया हायर पेंशन मिलने का रास्ता, पर कब मिलेगी हायर पेंशन?

76 / 100

EPS 95 Higher Pension Order: हाल ही में EPS 95 पेंशनधारकों को अनिल कुमार नामदेव जी द्वारा जो स्वयं एक EPS 95 पेंशनधारक है, द्वारा आवाहन किया गया है। उन्होंने केरला उच्च न्यायलय द्वारा  EPS 95 पेंशनधारकों के हक़ दिए अभीतक के फैसलों का सन्दर्भ देते हुए सभी  EPS 95 पेंशनधारकों से कहा है ………

एक PDF इन दिनों सोशल मीडिया में लहराया जा रहा है,जो केरला उच्च न्यायालय में पेंशनरों के पक्ष में दिये निर्णयों पर उक्त न्यायालय की फुल बेंच को कानूनी मुद्दों पर सलाह हेतु संदर्भित किया गया है। इसमें कुल 32 पन्ने हैं, पता नहीं कितने EPS 95 पेंशनधारकोंने इसे पढ़ा है और कितनों ने पढ़ा भी है कि नहीं।

Click to See Kerala High Court Order: Kerala High Order In For Allowing Higher Pension under EPS 95

ये विचारणीय है कि FCI के सेवनिवृतों सहित अनेक ऐसी संस्थानों के सेवनिवृतों को हायर पेंशन के लिये विभिन्न उच्च न्यायालयों सहित सर्वोच्च न्यायालय तक दौड़ लगाना पड़ रहा है, और ये सिलसिला एक दशक से भी अधिक समय से बद्दतसुर जारी है।

EPS 95 के पेंशनधारक जहाँ लाखों में हैं तो न्यायालयों से न्याय की गुहार लगाने वाली याचिकाओं की संख्या भी हजारों में है, लेकिन विपक्ष में केवल दो ही प्रतिवादी हैं, एक केंद्रीय सरकार और दूसरा EPFO, जिन्होंने कानून का सहारा ले कर, लाखों पेंशनधारकों को ऐसे सिलसिले में लगा रखा है, जिसका कोई ओर दिखाई दे रहा है न कोई छोर।

सरकार के पास एक ही जबाव है कि वो तब तक कुछ नहीं कर सकते जब तक न्यायलयों से लंबित मामलों का निराकरण नहीं हो जाता। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश दिनांक 4/10/2016 का अनुपालन भी कहीं कहीं किया गया है तो उसके लिये भी बहुत को काफी पापड़ बेलने पड़े हैं और न जाने उन्हें कितने पापड़ आगे भी बेलने पड़े।

आगे अनिल कुमार नामदेव जी कहते है सिर्फ एक ही मंतव्य था कि EPFO और सरकार तो अपनी रणनीतियों  को तो बड़े ही सुनियोजित तरीकों से अंजाम देने में जुटी हुई है, और वो अब तक सफल भी दिखाई दे रहे है और, एक हम पेंशनर्स हैं कि आपस में कोई तालमेल ही नहीं बना पा रहे हैं, न व्यक्तिगत रूप से न सोशल मीडिया के माध्यमों से। 

सबका लक्ष्य एक ही है पर संघर्ष का कानूनी रास्ता हो या अन्य कोई सब जुदा जुदा, कोई किसी से कुछ भी शेयर नहीं करना चाहता, कोई चर्चा नहीं करना चाहता, सब वकीलों और अपने ऐसे अग्रजनों के ऊपर छोड़ रखा है जो अपने अपने प्रकरणों के वास्तविक स्तिथि से अवगत कराना तो दूर पेशी की तारीख या तारीख पर हुई कार्यवाही तक को बताने से परहेज रखते नजर आते हैं। 

आम पेंशनरों ने भी अब रुचि लेना लगभग छोड़ दिया है, वो भी न्याय की छोड़ अब जिन्दा जीते किस्मत की बात मानने लगे हैं। इतने असमर्थ  जितना कि शायद वे पहले सेवा के दौरान कभी भी न रहे हों। कोई रास्ता इससे बाहर निकलने का किसी को ज्ञात हो तो कृपया दो शब्द जरूर कहें, सांत्वना में ही सहीं, कुछ तो शुकून मिलेगा, निराश होते हमारे हजारों मित्रों ऐसा सभी EPS 95 पेंशनधारकों को अनिल कुमार नामदेव जी द्वारा आवाहन किया गया है।

EPS 95 Higher Pension Order Delivered by Kerala High Court

सभी पेंशनधारकों को अवगत होगा कि माननीय केरला उच्च न्यायालय द्वारा EPS-95 पेंशनधारकों के हक में अक्टूबर 2018 में फैसला दिया गया जिसमें कहा गया था कि EPS-95 पेंशनधारकों को उनके पूरे वेतन के हिसाब से पेंशन का भुगतान किया जाए। इस आदेश पर EPFO द्वारा सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी।  सुप्रीम कोर्ट ने भी माननीय केरला उच्च न्यायालय के फैसले को बरकरार रखते हुए अप्रैल 2019 में EPS-95 पेंशनधारकों के हक में फैसला सुना दिया। जिसमें कहा गया कि eps-95 पेंशन धारकों को इनके उच्चतम वेतन पर पेंशन का भुगतान किया जाए इस पेंशन का भुगतान इस फैसले की वजह से EPS-95 पेंशनधारकों को हायर पेंशन मिलने का रास्ता साफ हो गया पर। EPFO द्वारा इस फैसले को माना नहीं गया और इसी फैसले के ऊपर एक बार फिर से सुप्रीम कोर्ट में एक पुनर्विचार याचिका को दाखिल कर दिया गया। 

इसके ऊपर अभी फैसला आना बाकी है। जिसकी वजह से EPS-95 पेंशनधारकों हायर पेंशन के लिए अगर आवेदन करते हैं तो इनको EPFO द्वारा उनको कहा जाता है कि हायर पेंशन का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।  और सुप्रीम कोर्ट का फैसला आएगा तभी उनके आवेदन को स्वीकार किया जाएगा और उनके ऊपर आगे की कार्रवाई की जाएगी। ऐसे में EPS-95 पेंशनधारक उच्चतम वेतन पर हायर पेंशन के भुगतान के लिए इंतजार कर रहे हैं। और यह इंतजार कब खत्म होगा तो इसके बारे में भी कोई अपडेट नहीं है। क्योंकि इन मामलों पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई नहीं हो पा रही है। EPS-95 पेंशनधारक आशा लगाए बैठे कि सुप्रीम कोर्ट में EPS-95 पेंशनधारकों की हायर पेंशन के जो मामले हैं तो उनके ऊपर जल्द से जल्द सुनवाई हो जाए। पर सुप्रीम कोर्ट से इन मामलों की सुनवाई के बारे में अभी तक कोई अपडेट नहीं दिया गया है, कब इनके ऊपर अगली सुनवाई होगी इसके बारे में भी कोई तारीख भी नहीं है। 

कोरोनावायरस की वजह से सुप्रीम कोर्ट का कामकाज जैसे पहले की भांति होता था अभी वैसा नहीं हो रहा है।  कुछ मामले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किए जा रहे हैं और कुछ महत्वपूर्ण मामले हैं केवल वही मामलों के ऊपर सुप्रीम कोर्ट में फिजिकल सुनवाई हो रही है। ऐसे में सभी eps-95 पेंशन धारकों को जानना बहुत ही जरूरी है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा जो भी फैसला आएगा तो वह क्या आएगा और इसके लिए सभी EPS-95 पेंशनधारक रहा देख रहे हैं।

Read This:

वित्त वर्ष 2021-22 के बजट मे ईपीएस 95 पेंशन वृद्धि के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को ईमेल

EPFO NEWS: श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा बुलाई गई बैठक में भारतीय मजदूर संघ (BMS) ने पुरे वेतन 100% पर PF कटौती का दिया सुझाव

5 thoughts on “EPS 95 Higher Pension Order, केरला उच्च न्यायालय के फैसलों को सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा और साफ किया हायर पेंशन मिलने का रास्ता, पर कब मिलेगी हायर पेंशन?”

Leave a Comment