Sunday, November 28EPS 95, EPFO, JOB NEWS

Stock Market Mayhem, Sensex Closes After Falling By 1700 Points And Nifty By 510 Points Due To New Corona Virus Variant Found In South Africa

Black Friday For Stock Market: भारतीय शेयर बाजारों ( Indian Stock Market ) के लिये आज का दिन ब्लैक फ्राइडे साबित हुआ है. देसी विदेशी निवेशकों की भारी बिकवाली के बाद  बाजार में भारी गिरावट के साथ बंद हुआ है. एक वक्त सेंसेक्स करीब 1800 और निफ्टी में 550 अंकों का गोता लगाते हुये 57000 और 17,000 के नीचे जा फिसला. लेकिन आज का कारोबार खत्म होने पर  सेंसेक्स 1687 अंकों की गिरावट के साथ 57,107 और निफ्टी 510 अंकों की गिरावट के साथ 17,026 पर बंद हुआ. 

Healthcare छोड़कर सभी सेक्टर की पिटाई 

शेयर बाजार में आज हेल्थकेयर छोड़कर कोई सेक्टर नहीं चला. ऑटो, बैंकिंग, एफएमसीजी, मेटल्स, फाइनैंशियल सर्विसेज, एनर्जी समेत रियल एस्टेट सेक्टर के शेयरों में भी भारी गिरावट देखी गई. 

गिरने वाले शेयर्स

हालांकि गिरावट में कोई शेयर नहीं बचा लेकिन मारुति सुजुकी 5.31 फीसदी गिरकर  7,170 रुपये, बजाज फाइनैंस 4.47 फीसदी गिरकर 6807 रुपये, टाईटन 4.40 फीसदी गिरकर 2292 रुपये, एछडीएफसी 4.40 फीसदी लुढ़ककर 2741 रुपये और बजाज फिनसर्व 4 फीसदी गिरकर 16,682 रुपये पर बंद हुआ है. 

चढ़ने वाले शेयर्स

सिप्ला 7.42 फीसदी की तेजी के साथ 966.70 रुपये, Dr Reddys Labs 3.47 फीसदी की तेजी के साथ 4750 रुपये  Divis Labs 2.88 फीसदी की तेजी के साथ 4750 रुपये और Nestle  0.23 फीसदी की बढ़त के साथ 19,222 रुपये पर बंद हुआ है.

क्यों बाजार में छाई मायूसी

सेंसेक्स-निफ्टी दोनों करीब 3 फीसदी तक नीचे जाकर बंद हुये हैं. इसके पीछे का प्रमुख कारण ग्लोबल है. दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का एक नया वैरिएंट सामने आया है. जिसके बाद दुनिया भर के शेयर बाजारों में घबराहट छा गई है. दक्षिण अफ्रीका से बोत्सवाना और हांगकांग पहुंचे नागरिकों में भी इस नए वैरिएंट के संक्रमण जैसे ही लक्षण मिले हैं. इसी वजह से घरेलू बाजार में फार्मा सेक्टर को छोड़कर सभी सेक्टर लाल निशान में बंद हुआ है. वैसे ही भारतीय शेयर बाजारों में बीते दो हफ्ते से गिरावट का सिलसिला देखा जा रहा था  लेकिन कोरोना के नए वैरिएंट की खबर आने के बाद बाजार में घबराहट बढ़ गई.

ब्याज दरें बढ़ने का खतरा

विदेशी निवेशक लगातार बिकवाली कर रहे हैं. तो महंगी महंगाई से भी बाजार में ब्याज दरों के बढ़ने की चिंता है. वैसे भी 6 दिसंबर से आरबीआई के मनीटरी पॉलिसी कमिटी की बैठक होने वाली है और 8 दिसंबर को आरबीआई गर्वनर ब्याज दरों को लेकर अपना रुख साफ करेंगे.

गिरावट से निवेशकों को मौका 

कई जानकारों का मानना है कि बाजार लगातार ऊंचे स्तरों को छूता रहा है और बेहद महंगा भी नजर आ रहा है. बाजार में ऐसी कोई भी बड़ी गिरावट निवेशकों को खरीदारी का मौका देती है. सेंसेक्स 1400 और निफ्टी 400 अंक नीचे लुढ़क चुका था, तो गिरावट की सबसे ज्यादा मार मिडकैप और स्मॉल कैप शेयरों पर पड़ी है. बाजार में डर का आकंलन इसी बात से लगाया जा सकता है कि India VIX 15.45 फीसदी से बढ़कर 19.24 पर जा पहुंचा है. 

ये भी पढ़ें

Investors Poorer by Rs 14 lakh crore: भारतीय शेयर बाजार में कोरोना कहर, एक महीने में निवेशकों को 14 लाख करोड़ का नुकसान

 

Pharma Sector in Demand: कोरोना के नए वैरिएंट मिलने के बाद बाजार में छाई मायूसी पर फार्मा सेक्टर चहक उठा

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *